UNCATEGORIZED

पीएम मोदी के साथ इंटरव्‍यू के बीच ने अक्षय कुमार ने उठाया इस राज से पर्दा

पीएम मोदी के साथ इंटरव्‍यू के बीच ने अक्षय कुमार ने उठाया इस राज से पर्दा

बॉलीवुड अभि‍नेता अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का साक्षात्‍कार ल‍िया और इस बीच पीएम मोदी ने द‍िल खोलकर अपने बारे में बात की। अक्षय कुमार के साथ साक्षात्‍कार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने बचपन की बात बताई तो उन्‍होंने ये भी बताया कि कैसे वह देश सेवा की तरफ आए। अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा कि वह क्‍या बनना चाहते थे तो पीएम ने कहा कि मैंने कभी नहीं सोचा था कि प्रधानमंत्री बनूंगा।

इस पर अक्षय कुमार ने भी अपनी जिंदगी के एक राज से पर्दा उठा दिया। अक्षय कुमार ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताया कि वह भी कभी फ‍िल्‍म अभिनेता नहीं बनना चाहते थे। अक्षय कुमार ने बताया कि उनका सपना था कि वह मार्शल आर्ट टीचर बनना चाहते थे।

अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री से उनके गुस्‍से पर बात की तो अक्षय कुमार ने अपने बारे में बताया कि वह गुस्‍से को कैसे नियंत्रण करते हैं। अक्षय कुमार ने बताया कि जब उन्‍हें गुस्‍सा आता है तो वह बॉक्सिंग बैग में खूब मुक्‍का बरसाते हैं और थक कर सो जाते हैं। इसके अलावा कभी कभी गुस्‍सा आने पर वह समंदर किनारे चले जाते हैं और खूब चिल्‍लाते हैं।

इंटरव्‍यू की खास बातें- 

  • मैं आम खाता हूं और मुझे आम पसंद भी है, वैसे जब मैं छोटा था तो हमारे परिवार की स्थिति ऐसी नहीं थी की खरीद कर खा सकें, लेकिन हम खेतों में चले जाते थे और वहां पेड़ के पके आम खाते थे: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
  • मैंने बहुत छोटी उम्र में घर छोड़ दिया था और इसलिए लगाव, मोहमाया सब मेरी ट्रैनिग के कारण छूट गया: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
  • मैं सख्त हूं, अनुशासित हूं लेकिन कभी किसी को नीचा दिखाने का काम नहीं करता, अक्सर कोशिश करता हूं कि किसी काम को कहा तो उसमें खुद इन्वॉल्व हो जाऊं, सीखता हूं और सिखाता भी हूं और टीम बनाता चला जाता हूं: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
  • मैंने कभी सोचा नहीं था कि प्रधानमंत्री बनूंगा, बचपन में मुझे सेना के जवानों से प्रेरणा मिलती थी :  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
  • विपक्षी नेताओं से भी अच्छी दोस्ती है, गुलाम नबी आजाद के साथ अच्छी दोस्ती है, ममता दीदी साल में एक दो कुर्ते गिफ्ट भेजती हैं: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
  • अगर मुझे अलादीन का चिराग मिल जाये तो मैं उसे कहूंगा की ये जितने भी समाजशास्त्री और शिक्षाविद हैं उनके दिमाग में भर दो कि वो आने वाली पीढ़ियों को ये अलादीन के चिराग वाली थ्योरी पढ़ानी बंद कर दें। उन्हें मेहनत करने की शिक्षा दें: पीएम मोदी
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: