बिहार

सिंघिया में महागठबंधन की बैठक की गई

सिंघिया में महागठबंधन की बैठक की गई

समस्तीपुर जिला अंतर्गत सिंघिया प्रखंड अध्यक्ष कांग्रेस पार्टी के अध्यक्षता में उनके निवास स्थान पर फिजिकल डिस्टेंस का अनुपालन करते हुए सर्वदलीय आपात बैठक की गई जिसमें विभिन्न दलों के प्रखंड अध्यक्ष / सचिव उपस्थित होकर प्रखंड के ज्वलंत समस्याओं के निदान हेतु शिष्टमंडलिय सदस्य अंचलाधिकारी से मिलने का निर्णय लिया जो निम्न प्रकार है!
1, यह है कि पूरे देश में कोविड-19 के संक्रमण से बचने के उद्देश्य से सरकार द्वारा आकस्मिक लॉक डॉन की घोषणा की गई पूरे देश के लोगों ने महामारी से बचने हेतु थोपी गई लॉक डॉन का सम्मान भी किया तथा करते चले आ रहे हैं
किंतु अन्य राज्यों में बिहार के नागरिक फस गए जिनको अपने राज्य में आने का आदेश विलंब से दिया गया इस कारण बगैर काम धंधा किए मेहनत मजदूरी के जो भी पैसे थे लंबी अवधि के कारण समाप्त हो गई यहां तक के अब उनके पास एक ₹1 समाप्त है तब विभिन्न प्रकार की सरकारी नियम कायदों में परीक्षण करवाकर अपने गांव घर आने का सांत्वना मात्र दिया जा रहा है इस प्रकार बगैर पैसे के लाखों लोग अन्य प्रांतों में भूख से दम तोड़ देगा क्योंकि उस राज्य के लोग बिहार राज्य के लोगों को शरण देना तो दूर की बात रोटी पानी के लिए कर्ज भी नहीं दे रहे हैं
कुछ लोग अपने अस्तर से किसी प्रकार से अपने राज्य चले भी आते हैं तो उन गरीबों को एकांतवास में क्रोंटेन कर दिया जाता है जहां सरकारी शेड्यूल्ड के अनुसार दो वक्त भरपेट खाना सुबह का नाश्ता टूथपेस्ट साबुन गमछा स्वच्छ पेयजल तथा सुलभ शौचालय के घोर संकट के साथ-साथ उचित चिकित्सीय सेवा मैं भेदभाव के शिकार होते चले जा रहे हैं
इसकी भनक क्वॉरेंटाइन में निवास कर रहे व्यक्ति को अभिभावक को ना लगे मिलने नहीं दिया जाता है यहां तक के लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया कर्मी को भी अंदर जाना और उनका हालचाल जान कर प्रकाशित ना करें प्रतिबंध लगा दिया गया है यह लोकतंत्र के साथ भद्दा मजाक किया जा रहा है
2, पूर्व से लगातार बेमौसम मूलाधार बारिश और प्रलयंकारी तूफान से किसानों का गेहूं मक्का मूंग सब्जी आम लीची इत्यादि फसलों की अपूरणीय क्षति हुई जिसका क्षतिपूर्ति से संबंधित ऑनलाइन इनपुट बंद कर दिया है जबके रोसरा अनुमंडल क्षेत्र के ही हसनपुर प्रखंड और रोसरा प्रखंड के किसानों का रबी फसल क्षति से संबंधित ऑनलाइनइनपुट के माध्यम से आवेदन स्वीकार किया जाता है किंतु मध्य में सिंघिया प्रखंड के किसानों के साथ अन्याय किया जा रहा है!
यदि उपरोक्त समस्याओं का निदान नहीं किया जाएगा तो बेबस होकर सर्वदलीय समाज सेवक फिजिकल डिस्टेंस का अनुपालन करते हुए आने वाले समय में क्रांतिकारी निर्णय लेने के लिए बाध्य होगा!
बैठक में उपस्थित
भारतीय कांग्रेस पार्टी के प्रखंड अध्यक्ष पार्थेश्वर प्रसाद सिंह, तैयब हुसैन,
राष्ट्रीय जनता दल प्रखंड अध्यक्ष(अलoप्रo) नजरे आलम सिद्दीकी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी लेलिन वादी अंचल सचिव रामचंद्र प्रधान, सीपीएम के संजीव कुमार शंभू, आम आदमी पार्टी के लालन प्रसाद सिंह, सीपीआईएम के ब्रह्मदेव कमती, उपस्थित थे

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close
%d bloggers like this: