Follow Us

17 दिन बाद मजदूरों ने जीती जिंदगी की जंग, टनल से बाहर आने पर दिखी अलग ही मुस्कान

17 दिन बाद मजदूरों ने जीती जिंदगी की जंग, टनल से बाहर आने पर दिखी अलग ही मुस्कान

उत्तरकाशी स्थित सिल्क्यारा के सुरंग में फंसे मजदूर आखिरकार 17वें दिन सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया. मंगलवार की दोपहर, सुरंग में फंसे मजदूर के लिए जिन्दगी की नई रोशनी ले कर आई. सुरंग से बाहर आते ही सभी मजदूरों को तुरंत एंबुलेंस की जरिए अस्पताल ले जाया जा रहा है. वहीं रेस्क्यू ऑपरेशन में मिली सफलता के बाद मजदूरों के परिजनों, रेस्क्यू टीम और प्रशासन ने राहत की सांस ली है.

अंदर फंसे मजदूरों में सबसे पहले झारखंड निवासी विजय होरो को बाहर निकाला गया. वहीं दूसरे मजदूर गणपति होरो को भी सुरंग से बाहर निकाला लिया गया है. इस दौरान मुख्यमंत्री ने शॉल ओढ़ाकर सभी मजदूरों का स्वागत किया. बता दें कि बचाव दल ने मलबे के अंदर पाइप को धकेल कर मजदूरों को बाहर निकालने के लिए एक रास्‍ता बनाया. उत्‍तराखंड के सीएम पुष्‍कर सिंह धामी और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह भी रेस्क्यू अभियान के इस महत्‍वपूर्ण पलों के दौरान मौजूद रहे. जिंदगी की जंग जीतने के बाद सभी मजदूरों के चेहरे पर अलग तरह की ही खुशी नजर आ रही थी. 17 दिनों के अंधकार के बाद आखिर सभी मजदूर सुरंग से बाहर आने में सफल रहे.

मिली जानकारी के मुताबिक मजदूरों के बचाव के बाद उनकी देखभाल भी अब उतनी ही महत्वपूर्ण हो जाती है. ऐसे में मजदूरों को जल्द से जल्द इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया जा रहा है. इसके लिए, उनके स्वास्थ्य और स्थिति के आधार पर सड़क और हवाई परिवहन की व्यवस्था की गई है. मजदूरों को चिकित्सकीय सुविधा मुहैया कराने के लिए घटनास्थल से 30 किलोमीटर दूर चिन्यालीसौड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 41 बिस्तरों का एक स्पेशल अस्पताल तैयार किया गया है. बता दें कि सुरंग में फंसे मजदूरों में बिहार और झारखंड के भी मजदूर शामिल थे.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment