Follow Us

पान बेचने वाले का बेटा रातोंरात बना करोड़पति, IPL में खरीदने के लिए टूट पड़े ओनर्स

पान बेचने वाले का बेटा रातोंरात बना करोड़पति, IPL में खरीदने के लिए टूट पड़े ओनर्स

दस साल पहले, शुभम दुबे के पास इतने पैसे नहीं थे कि वो बल्ले के ग्लव्स ही खरीद सकें. उनके पिताजी बद्रीप्रसाद नागपुर शहर के कमल चौक में पान बेचकर जैसे-तैसे गुज़ारा करते थे. लेकिन मंगलवार को न सिर्फ शुभम दुबे बल्कि उनके परिवार की जिंदगी ने पलटकर रख दी. राजस्थान रॉयल्स ने शुभम को 2024 आईपीएल सीजन के लिए खेलने के लिए बड़ी कीमत में खरीदा. राजस्थान रॉयल्स ने शुभम पर 5.8 करोड़ रुपये का दांव लगाया. अब वह बेहद ही सुर्खियों में आ गए.

पान बेचने वाले का बेटा बना रातोंरात स्टार

शुभम और उनका परिवार तो खुशियों के समुंदर में डूबे हुए हैं. उनके पास बोलने के लिए लफ्ज तक नहीं हैं. उनके परिवार की इतनी बड़ी खुशी इससे पहले कभी नहीं मिली. टीओआई से बात करते हुए शुभम दुबे ने कहा, “ये तो सपना लग रहा है! मैंने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (एसएमएटी) में अच्छा खेला था, इसलिए नीलामी में चुने जाने की उम्मीद थी. लेकिन सच कहूं तो इतनी बड़ी रकम की उम्मीद नहीं थी.” मंगलवार शाम को कमल चौक स्थित दुबे परिवार के घर पर शुभम को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ था, उनके बीच शुभम बीच-बीच में शुक्रिया करते जा रहे थे.

27 साल की उम्र में शुभम ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में गजब का रंग दिखाया. इतना नही नहीं, इस पूरे साल उनकी धमाकेदार पारियां भी हाइलाइट करती है. वह बड़े शॉट खेलने में भी काफी माहिर हैं.

आखिरी सात पारियों में दिखाया कमाल

शुभम ने सात मैचों में धुआंधार बल्लेबाजी की. उन्होंने 187.28 की स्ट्राइक रेट और 73.76 की औसत से कुल 222 रन बनाए. उन्होंने अपने सात पारियों में बल्ले से 10 चौके और 18 छक्के जड़े. विदर्भ के लिए सबसे तेज अर्धशतक का रिकॉर्ड भी शुभम के ही नाम है. वह बंगाल के खिलाफ सिर्फ 18 गेंदों में पचास तक पहुंचे. एसएमएटी के सबसे बड़े लक्ष्य के पीछा करते हुए भी शुभम नाबाद रहे और 20 गेंदों में ही 58 रन जड़ दिए. इस पारी में उनके 3 चौके और 6 छक्के शामिल थे. ये स्ट्राइक रेट तो किसी सपने जैसा था. जी हां, उनका स्ट्राइक रेट 290 रहा.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment