Follow Us

सीरिया में ईरानी जनरल का मर्डर, कुछ घंटों बाद दिल्‍ली के इजरायली दूतावास के बाहर धमाका

सीरिया में ईरानी जनरल का मर्डर, कुछ घंटों बाद दिल्‍ली के इजरायली दूतावास के बाहर धमाका

इजरायल और हमास के बीच युद्ध जारी है, जो अब मिडिल ईस्ट में फैल रहा है और अशांति पैदा कर रहा है. इस बीच इजरायल ने गाजा के साथ ही सीरिया में भी एक्शन तेज कर दिया है. इजरायल ने मिसाइल अटैक में ईरान के कमांडर सैयद रजी मोसावी को मार गिराया. जिसके बाद ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी ने इजरायल को चेतावनी देते हुए कहा कि उसे भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. इसके बाद मंगलवार शाम को दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर धमाका हुआ. तो क्या दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर हुए धमाके का मोसावी की मौत से कोई कनेक्शन है?

ईरान के कमांडर सैयद रजी मोसावी की मौत के बाद दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर हुए धमाके में ईरान का हाथ हो सकता है. क्योंकि, मौसवी की हत्या के बाद ईरान ने धमकी दी थी और कहा था कि इजरायल को इस अपराध की कीमत चुकानी पड़ेगी. इससे पहले भी कई बार दिल्ली में इजरायली दूतावास के करीब ब्लास्ट हुए हैं, जिसमें ईरान पर साजिश रचने का आरोप लगा था. तो क्या इस बार बार भी धमाके में ईरान का ही हाथ है? हालांकि, इस पर इजराइल की ओर से कोई टिप्पणी नहीं आई है. इस धमाके के पीछे कौन शामिल हैं, इसको लेकर दिल्ली पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. घटनास्थल पर पहुंची दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल अलग-अलग बिंदुओं के अनुसार जांच कर रही है.

ईरानी राष्ट्रपति ने इजरायल की दी थी खुली चुनौती

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी ने इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) के ब्रिगेडियर जनरल सैयद रजी मोसावी की हत्या के बाद इजरायल को खुली चुनौती दी थी. उन्होंने कहा था इजरायल को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. ईरानी राष्ट्रपति ने एक प्रेस बयान में कहा था, ‘बिना किसी संदेह के यह कार्रवाई क्षेत्र में कब्जा करने वाले जायोनी शासन की हताशा, असहायता और अक्षमता का एक और संकेत है.’

2012 और 2021 में भी इजरायली दूतावास पर हुए थे हमले

यह पहली बार नहीं है जब दिल्ली में इजरायली दूतावास पर हमला हुआ हो. इससे पहले साल 2012 और साल 2021 में भी इजरायली दूतावास को टारगेट किया जा चुका है. साल 2012 में इजरायली दूतावास की एक कार पर बाइक सवार आतंकियों ने स्टिकी बम से हमला किया था. इस धमाके में इजरायली दूतावास के एक अधिकारी की पत्‍नी और ड्राइवर समेत कुल 4 लोग घायल हो गए थे. हालांकि, अब तक दिल्‍ली पुलिस इस हमले की गुत्थी सुलझा नहीं पाई है.

2021 में कासिम सुलेमानी की हत्या का बदला?

साल 2021 में भी एजरायली एम्बेसी के बाहर एक कम तीव्रता वाला धमाका हुआ था और तब ईरान पर साजिश रचने का आरोप लगा था. धमाके में तीन कार को नुकसान पहुंचा था और एनआई अब तक इसकी जांच कर रही है. धमाके के बाद वारदात वाली जगह से एक लेटर बरामद हुआ था, जिसमें कहा गया था कि ईरान के कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या का बदला है.

7 अक्टूबर से जारी है इजरायल-हमास युद्ध

इजरायल और हमास के बीच 7 अक्टूबर से युद्ध जारी है. बता दें कि 7 अक्टूबर 2023 को गाजा के आतंकी संगठन हमास ने इजराइल पर हमला कर दिया. हमास आतंकियों ने इजरायल में घुसकर 1200 लोगों की हत्या कर दी. इसके बाद इजराइल ने कार्रवाई के तहत पलटवार किया और गाजा पर हमला कर दिया. तब से यह जंग जारी है और अब तक इस जंग में करीब 16 हजार फिलिस्तीनी मारे जा चुके हैं. रिपोर्ट के अनुसार, दोनों पक्षों के बीच जार इस युद्ध में अब तक 21 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment