Follow Us

शीतलहर से कांपा बिहार, पिछले 20 सालों का रिकॉर्ड टूटा, अभी बारिश से और बढ़ेगी सर्दी

शीतलहर से कांपा बिहार, पिछले 20 सालों का रिकॉर्ड टूटा, अभी बारिश से और बढ़ेगी सर्दी

घने कोहरे और शीतलहर के कारण समूचा उत्तर भारत कांप रहा है. बिहार में भी सर्दी का सितम देखने को मिलने लगा है. नव वर्ष का आगाज घना कोहरा व ठंड के साथ हुआ है. रविवार (31 दिसंबर) को पटना सहित 17 शहरों के अधिकतम तापमान में भारी गिरावट आने व पछुआ के कारण शीतलहर जैसे हालात बने रहे. बीते दो दिनों के दौरान पटना के अधिकतम तापमान में 14 डिग्री की गिरावट आई है.

सर्दी ने बीते 20 साल का रिकॉर्ड टूट गया है. इससे पहले 2003 में पटना का अधिकतम तापमान 15.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. मौसम विभाग के मुताबिक, प्रदेश के अधिकांश जिलों में अगले दो दिनों तक घना कोहरे का प्रभाव बना रहेगा. इससे तापमान में काफी गिरावट देखने को मिलेगी. आने वाले दिनों से 4 से 6 डिग्री की गिरावट आने का पूर्वानुमान है.

मौसम विभाग के मुताबिक, आने वाले दो-तीन में बारिश हो सकती है. मौसम विभाग का कहना है कि 30 दिसंबर से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में एक नया पश्चिमी विक्षोभ बना है, इस कारण बिहार में 2 जनवरी से बारिश होने का अनुमान है. पश्चिमी विक्षोभ या वेस्टर्न डिस्टर्बन्स के कारण 2 से 3 जनवरी 2024 के बीच हल्के से मध्यम बारिश होने की संभावना है, जिससे ठंड में काफी इजाफा होगा.

तापमान में गिरावट आने के साथ कई शहरों में वायु गुणवत्ता में गिरावट आई है. रविवार (31 दिसंबर) को ‘खराब’ श्रेणी में रहा. भागलपुर में 324 एक्यूआई के साथ हवा की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी दर्ज की गई. विशेषज्ञों के अनुसार हवा की गति और तापमान कम होने के कारण रविवार को कुछ शहरों में हवा की गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में आ गई और इसके और भी खराब होने संभावना है.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment