Follow Us

कोहरे ने रेलवे का किया बेड़ा गर्क! टिकट कैंसिल होने से करोड़ों का नुकसान

कोहरे ने रेलवे का किया बेड़ा गर्क! टिकट कैंसिल होने से करोड़ों का नुकसान

लगातार बढ़ती ठंड रेलवे के लिए सरदर्द और नुकसान का कारण बनती जा रही है, मुरादाबाद रेल मंडल से दिसंबर माह में रेलवे को करीब 1करोड़ 25 लाख का नुकसान हुआ है और ये वो नुकसान है. ठंड की वजह से टिकट कैंसल होने के कारण रेलवे को लगभग 1 करोड़ 25 लाख रुपए वापस करने पड़े है, इससे रेलवे को लगभग सवा करोड़ का नुकसान हुआ है. इस कैंसल टिकटों की सूची में मुरादाबाद रेल मंडल के कई रेलवे स्टेशन शामिल है जिसमे सबसे ज्यादा बरेली में 4230 और मुरादाबाद में 3239 टिकट कैंसल हुए है. मामले के संबंध में मुरादाबाद रेल मंडल के सीनियर डीसीएम सुधीर सिंह ने मुरादाबाद की ट्रेनों पर पड़ने वाले असर की जानकारी दी.

इन स्टेशनों पर बड़ी संख्या में टिकट हुए कैंसिल
बरेली रेलवे स्टेशन से कुल 4230 टिकट कैंसल हुए जिसके बदले रेलवे को 21,54,000 रुपए वापस करने पड़े, तो वहीं मुरादाबाद रेलवे स्टेशन से 3239 टिकट दिसंबर में कैंसल हुए और उनके बदले रेलवे को 17,62,000 रुपए का भुगतान वापस करना पड़ा. इसके अलावा देहरादून रेलवे स्टेशन से 2488 कैंसल टिकट के 19,26,000 रुपए का घाटा हुआ, हरिद्वार रेलवे स्टेशन से 3917 कैंसल टिकट से रेलवे को 22,56,000 का घाटा हुआ, हापुड़ रेलवे स्टेशन से 311 टिकट कैंसल हुए जिससे रेलवे को 1,99,000 का घाटा हुआ, हरदोई रेलवे स्टेशन से 807 कैंसल टिकट पर 3,45,000 का घाटा रेलवे को हुआ..

मुरादाबाद रेल मंडल के सीनियर डीसीएम सुधीर सिंह का बयान
रेलवे को हुए इस घाटे और ठंड व कोहरे का असर रेलवे पर पड़ने के संबंध में जब मुरादाबाद रेल मंडल के सीनियर डीसीएम सुधीर सिंह से बात की गई. उन्होंने कहा कि जो ट्रेनें हमारी पहले चल रहीं थी फॉग में हमने जिसमे कम ओपेंसी थी जिनकी डिमांड कम थी ऐसी ट्रेनों को सेलेक्ट करके हमने पहले ही कैंसिल कर दिया था, लेकिन फिर भी बहुत सारे यात्रियों ने उसमे टिकट लिए तो वो टिकट लगभग 22 हजार के आसपास 20 हजार पैसेंजर के लगभग यात्रियों ने टिकट वापस कराएं. ये आंकड़ा केवल दिसंबर के महीने का है जो ट्रेन इंट्रोड्यूज हो चुकी थी. जिनके टिकट बन चुके थे चाहे वो ऑनलाइन हो या ऑफ लाइन हो तो वो 20 हजार लोगो ने दिसंबर महीने में लोगों ने कैंसल कराए या बहुत लोगो का ऑटोमेटिक कैंसिल बहुत का इसमें हो गया. क्योंकि ट्रेन कैंसल थी तो कैंसल ई टिकट वालो को तो ऑनलाइन वापस मिल जाता है. जो पेपर टिकट वाले थे उन्होंने अपना आकार रिफंड लिया और इससे करीब सवा करोड़ रुपए हमको वापस देने पड़े,

किन किन स्टेशन से वापसी ज्यादा है
सीनियर डीसीएम सुधीर सिंह का कहना है की जो मेजर स्टेशन हमारे टर्मिनल है बरेली देहरादून हरिद्वार सहित जो आंकड़े है उसमे सबसे ज्यादा टिकट बरेली से जो आंकड़ा है दिसंबर का है जो कैंसल होकर रिफंड हुए है क्योंकि वो मैन लाइन का स्टेशन है जो दूसरी भी ट्रेनें आती है जो हमारे मंडल की नही होती है वो भी इंट्रोड्यूज होती है वो क्योंकि हमारे प्लान में थी लेकिन उनको जब कैंसल किया गया तो उन पैसेंजर को भी रिफंड करना पड़ा तो वो बरेली से ही 4200 के ही आसपास पैसेंजर थे जिन्होंने अपना दिसंबर में रिफंड लिया .

pnews
Author: pnews

Leave a Comment