Follow Us

राजस्थान में चल रहा कोख का सौदा,बेहोश कर निकाला महिला का एग

राजस्थान में चल रहा कोख का सौदा,बेहोश कर निकाला महिला का एग

राजस्थान के अलवर में सरोगेट मदर बनने के नाम पर एक तलाकशुदा महिला की कोख खरीद फरोक्त का बड़ा मामला अलवर में प्रकाश में आया है.जिसके तहत इस खरीद फरोख्त से जुड़ी पीड़ित महिला का आरोप है कि संबंधित निजी अस्पताल से जुड़े चिकित्सक द्वारा सरोगेट मदर बनने के नाम पर उसे 3 लाख दिये जाने की बात कही थी.

वहीं, जब दो बार इस प्रक्रिया में महिला के गर्भ धारण होने में फेल हो गई, तो संबंधित महिला के गर्भाशय से निजी चिकित्सकों ने एग निकाल लिये. जिसके बाद अब संबंधित निजी चिकित्सालय से जुड़े चिकित्सक ने अन्य महिला उपलब्ध कराने के बाद ही पीड़िता को पैसे दिये जाने की बात कही हैं

जिसे बाद अब पीड़िता ने अलवर की कोतवाली थाने में मामला दर्ज कराया है.वहीं, इस मामले को लेकर पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल कराते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है.क्योंकि इस तरह के मामलों में बेहतर जांच व्यवस्था अलवर के जनाना अस्पताल में उपलब्ध नहीं है.इसके चलते रविवार को पीड़िता को जयपुर स्थित हायर सेंटर भेजा गया है.

पैसे देने का आश्वासन दिया
गौरतलब है कि पीड़िता के अनुसार पिंकी कुमारी झारखंड की रहने वाली है, और गरीबी के चलते उसने एक विज्ञापन के माध्यम से इस तरह सरोगेट मदर बनने का प्रयास के चलते अलवर शहर के स्कीम नंबर 10 स्थित प्रीबगोम बेबी सेंटर संचालक डॉ. पंकज गुप्ता से फोन से बात की .जिन्होंने उसे किस्तों के हिसाब से सरोगेट मदर बनने के नाम पर पैसे देने का आश्वासन दिया.जिसके चलते उसे शुरुआती तौर पर तकरीबन 22000 भी दिए गए.इसके बाद दो बार उसे गर्भधारण कराया गया.

महिला के गर्भाशय से अंडे भी निकाल लिए
लेकिन गर्भधारण न होने के चलते प्रिंवगोम टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर वालों ने पैसे देने से मना कर दिया.साथ ही इस पूरी घटना के दौरान संबंधित सेंटर से जुड़े चिकित्सकों ने महिला के गर्भाशय से अंडे भी निकाल लिए.जिसके चलते उसे बड़ी पीड़ा हुई. इसके बाद उसने जब इस संबंध में बात की तो इस बात का खुलासा हुआ.

कई बार थाने के चक्कर लगा चुके हैं
अब पीड़िता पिंकी ने इस मामले की शिकायत अलवर की कोतवाली थाने में दर्ज कर दिए.जहां पुलिस इस मामले से जुड़े विभिन्न पहलुओं को तलाश रही है.दूसरी तरफ संबंधित चिकित्सक पंकज गुप्ता ने इस मामले में पीड़िता को ही आरोपी बताया है गौरतलब है कि डॉक्टर पंकज गुप्ता पूर्व में भी अश्लील वीडियो वायरल के मामले में काफी चर्चित रहे.साथ ही टेस्ट ट्यूब बेबी के नाम पर लोगों से पैसा वसूलने को लेकर भी कई बार थाने के चक्कर लगा चुके हैं.

वहीं, भाजपा से जुड़े कई नेताओं के साथ भी यह चिकित्सक अपनी नजदीकी बताते हुए लोगों को धाक जमाता हुआ देखा गया है .साथी हम आपको बताना चाहते हैं कि सरोगेट मदर से जुड़ा सेरोगेसी करवाने वाला सेंटर चलाने के लिए जिस तरह के नियमावली मौजूदा केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित है.

कमर्शियल सेरोगेसी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित
उसके तहत देश में कुछ ही निजी चिकित्सा से जुड़े बड़े हाउस इस तरह के सरोगेंस कराने से जुड़े सेंटर चला पा रहे हैं .ऐसे में यह भी बड़ा सवाल है कि इस तरह का यह सेंटर संबंधित आरोपी चिकित्सक किस आधार पर चल रहा था. और इसे क्या इस तरह का सेरोगेसी करने से जुड़ा सेंटर चलाने का लाइसेंस प्राप्त है.उन हालातों में जब केंद्र सरकार द्वारा कमर्शियल सेरोगेसी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित कर दी गई है.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment