Follow Us

केके पाठक के छुट्टी पर जाने के बाद बिहार के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी एक्शन में हैं। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को पत्र जारी कर बड़ा काम सौंपा है।

केके पाठक के छुट्टी पर जाने के बाद बिहार के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी एक्शन में हैं। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को पत्र जारी कर बड़ा काम सौंपा है।

बिहार सरकार की योजनाओं की जानकारी देने को सभी जिलों में जन संवाद कार्यक्रम चल रहे हैं। इसी तर्ज पर अब ‘शिक्षा संवाद’ कार्यक्रम चलाने का निर्णय लिया गया है। यह अनोखा और सराहनीय निर्णय मुख्य सचिव आमिर सुबहानी की है। उन्होंने सूबे के सभी प्रमंडलीय आयुक्त और डीएम को ताजा पत्र भेजा है, जिसमें कहा है कि शिक्षा विभाग के स्तर से बच्चों के हित में कई तरह की योजनाएं-कार्यक्रम चलाए गए हैं। इन योजनाओं की समुचित जानकारी बच्चों और उनके अभिभावकों को नहीं रहती है। इस कारण बहुत सारे बच्चे योजनाओं के लाभ से वंचित रह जाते हैं। जानकारी के आभाव में बच्चे आवेदन ही नहीं कर पाते हैं। इस लिहाज से यह जरूरी है कि जन संवाद कार्यक्रम की तर्ज पर जिलों में शिक्षा संवाद कार्यक्रम भी आयोजित की जाए। ताकि अधिक से अधिक बच्चों और अभिभावकों को योजनाओं की जानकारी मिल सके।

मुख्य सचिव ने जारी पत्र में सभी माध्यमिक, उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षा संवाद कार्यक्रम का आयोजन कराने की बात कही है। यह कार्यक्रम 15 जनवरी 24 से अगले एक सप्ताह तक करना है। इस कार्यक्रम की रूपरेखा ऐसे तैयार करनी है कि जिले के सभी माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालय शरीक हो सकें। कार्यक्रम में जिला के एक वरीय अधिकारी को रहना अनिवार्य किया गया है। बच्चों को शिक्षा विभाग के साथ ही अन्य विभागों की भी योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। मुख्य सचिव ने कार्यक्रम के तिथि निर्धारित कर इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराने को भी कहा है। ताकि अधिक से अधिक लोगों की सहभागिता हो सके।
मुख्य सचिव ने डीएम से कहा है कि कार्यक्रमों में कुछ सुझाव भी प्राप्त होंगे। उसे नोट करना है और जिस विभाग से जुड़ा सुझाव होगा, उससे शीघ्र कार्रवाई भी कराना है। आयुक्त और डीएम कार्यक्रम का अनुश्रवण करने के साथ ही कोशिश करेंगे कि खुद भी कार्यक्रम में शामिल हों। पूरे कार्यक्रम का दैनिक प्रतिवेदन शिक्षक विभाग को उपलब्ध कराया जाएगा। विभाग की योजनाओं में सीएम बालिका/बालक साइकिल योजना, किशोरी स्वास्थ्य कार्यक्रम योजना, सीएम बालिका प्रोत्साहन योजना, बिहार शताब्दी मुख्यमंत्री बालिका पोशाक योजना, सीएम छात्रवृत्ति योजना, प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना, पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना और बिहार स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड योजना आदि शामिल हैं।
शिक्षा संवाद कार्यक्रम में शिक्षा विभाग के आलावा श्रम विभाग, उद्योग विभाग और स्वास्थ्य विभाग की भी योजनाओं की जानकारी बच्चों और अभिभावकों को दी जाएगी। तमाम विभागों की योजनाओं की एक समेकित सूची तैयार कराने की जिम्मेवारी डीएम को सौंपी गई है। मुख्य सचिव ने कहा है कि शिक्षा संवाद कार्यक्रम पर होने वाले खर्च की राशि विभाग द्वारा सभी जिलों को उपलब्ध कराई जाएगी।

pnews
Author: pnews

Leave a Comment