Follow Us

DM साहब स्कूल पहुंचे तो धूप सेंक रहे थे टीचर्स, गायब मिले हेडमास्टर

DM साहब स्कूल पहुंचे तो धूप सेंक रहे थे टीचर्स, गायब मिले हेडमास्टर

बिहार में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव के के पाठक ने सरकारी स्कूलों में बेहतर शैक्षणिक व्यवस्था और पढ़ाई का बढ़िया माहौल बनाने के लिए भले ही कई तरह की कोशिश किये, लेकिन उसका ज्यादा असर सूबे के सुदूरवर्ती स्कूलों में देखने को शायद ही मिल रहा है. यही कारण है कि स्कूलों में शिक्षक या तो गायब मिल रहे या फिर काम छोड़ धूप सेंकते.

ऐसी ही तस्वीर जमुई से आई है. जिले के डीएम राकेश कुमार जब अचानक खैरा प्रखंड के अति नक्सल प्रभावित इलाके के स्कूलों का हाल जानने पहुंचे तो हकीकत देख वह भी हैरान हो गए. अचानक सरकारी स्कूलों के निरीक्षण के लिए पहुंचे डीएम ने देखा कि कई शिक्षक बच्चों को पढ़ने में रुचि नहीं ले रहे हैं. कई जगह तो बच्चों की हाजिरी भी नहीं बनी है. यहां तक की एक स्कूल का हेड मास्टर बगैर छुट्टी स्वीकृति कराए सिर्फ आवेदन रखकर स्कूल से नदारद थे

दरअसल जमुई के डीएम राकेश कुमार इन दोनों सरकारी योजनाएं या प्रशासनिक कार्रवाई की हकीकत जानने के लिए खुद ही दौरा कर रहे हैं. रात में जहां वो चेक पोस्ट पहुंचकर बालू के अवैध ढुलाई की जांच करते हैं वहीं खैरा प्रखंड के नक्सल प्रभावित इलाके के स्कूलों में भी पहुंच गए. जमुई डीएम राकेश कुमार के द्वारा जिले के खैरा प्रखंड के अति नक्सल प्रभावित हरखाड़ पंचायत के कई स्कूलों का औंचक निरीक्षण किया गया.
डीएम के निरीक्षण के दौरान विद्यालयों में कई कमियां पाई गई. विद्यालयों में पाई जाने वाली कमियों पर संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने सभी शिक्षकों पर कार्रवाई करने की बात कही है. जमुई के डीएम सबसे पहले हरखार पंचायत के दीपाकरहर गांव के उत्क्रमित मध्य विद्यालय पहुंचे जहां स्कूल के हेड मास्टर गायब थे. स्कूल में बच्चों को जमीन पर बिछे दरी पर बैठकर पढ़ते देख वो नाराज हो गए. उन्होंने विद्यालय में जल्द से जल्द बेंच डेस्क उपलब्ध कराने की बात कही.

इसके साथ ही विद्यालय में बने मिड डे मील की क्वालिटी काफी खराब थी, जिस पर डीएम काफी सख्त दिखे. डीएम जब प्राथमिक विद्यालय महेंग्रो पहुंचे तो वहां की प्रधानाचार्य शांति कुमारी कुर्सी पर बैठ धूप सेंकती दिखी, जिन पर डीएम भड़क गए. उन्होंने स्पष्ट कहा कि विद्यालय में आपकी ड्यूटी पढ़ाई करने की है ना की धूप सेंकने की. डीएम ने कहा कि बच्चे बैठेंगे नीचे और आप बैठेंगे कुर्सी पर, ये नहीं चलेगा. इसके बाद डीएम ने विद्यालय के मिड डे मील ,बच्चों की उपस्थिति, शिक्षकों की उपस्थिति से संबंधित सभी रजिस्टर की जांच की. जमुई डीएम राकेश कुमार ने पंचायत के दीपा करहर जिलिंग टांड़, महेंग्रो ,झिलार, प्रतापपुर के विद्यालयों का भी निरीक्षण किया.

इस दौरान सभी विद्यालयों में अनियमितता पाई गई, जिस पर जिलाधिकारी ने शिक्षकों को फटकार लगाते हुए सख्त हिदायत देते हुए कार्रवाई करने की बात कही. डीएम राकेश कुमार ने बताया कि निरीक्षण में देखा गया है कि बच्चे जमीन पर बैठकर पढ़ रहे हैं जबकि जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है की बेंच डेस्क मुहैया कराएं. एक स्कूल के हेडमास्टर बगैर छुट्टी स्वीकृत करवाए गायब थे. बच्चों का अटेंडेंस भी 2 दिन का नहीं बना था. स्पष्ट होता है कि बाद में ये लोग लीपा पोती करते होंगे, जहां भी गड़बड़ी हुई है, वहां कार्रवाई की जाएगी.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment