Follow Us

शिक्षा में करोड़ों का गबन, 20 करोड़ के घोटाले पर आया कोर्ट का ये फैसला

शिक्षा में करोड़ों का गबन, 20 करोड़ के घोटाले पर आया कोर्ट का ये फैसला

आलीराजपुर जिले में शिक्षा विभाग के हुए बड़े घोटाले के मास्टरमाइंड कमल राठौड़ पुलिस ने पकड़ लिया. इसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया जहां से अदालत ने उसे पुलिस रिमांड में भेज दिया है. 20 करोड़ रुपए से अधिक के गबन के मामले में मुख्य आरोपी कमल राठौर केस दर्ज होने के बाद से ही फरार था. उसे पकड़ने के लिए पुलिस कई टीम बनाकर काम कर रही थी.

पेशी के बाद रिमांड
कट्ठीवाड़ा शिक्षा विभाग में 20 करोड़ से अधिक का गबन करने वाले मुख्य आरोपी कमल राठौर को आज पुलिस ने कोर्ट में पेश किया. कोर्ट ने 22 जनवरी तक पुलिस रिमांड की अनुमति दी. राजस्थान के पुष्कर से कमल राठौर को पकड़ा गया था.

हाईकोर्ट में आवेदन
पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास ने बताया कि जिन लोगों को कोर्ट ने अग्रिम जमाना दी है उसके खिलाफ हम हाईकोर्ट में आवेदन करेंगे. जल्द ही अन्य आरोपियों की अग्रिम जमानत भी खारिज हो जाएगी. पुलिस अधीक्षक में बताया कि जिन लोगों के खाते में कमल राठौड़ ने सरकारी राशि डाली उनसे भी पूछताछ होगी.

क्या है पूरा मामला?
कोष व लेखा विभाग ने अगस्त 2023 में कट्ठीवाड़ा खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय के खाते से संदिग्ध भुगतान किया जाना पकड़ा था. जांच में 20 करोड़ 47 लाख 12 हजार 727 रुपए के घोटाले का मामला सामने आया. खुलासे के बाद कट्ठीवाड़ा थाने में कट्ठीवाड़ा के 3 BEO (मधुलाल परमार, अच्छेलाल प्रजापति, रामनारायण राठौर), शासकीय उमावि चांदपुर के सेवानिवृत्त लेखापाल मोईनुद्दीन शेख, प्रधान अध्यापक उमावि आमखूंट में पदस्थ रमेशचंद्र बघेल, प्रभारी लेखापाल कट्ठीवाड़ा कमल राठौर पर मामला दर्ज किया गया था.

छह साल में 20 करोड़ 47 लाख का गबन हुआ है. खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय कट्ठीवाड़ा में हुए घोटाले के मामले में 2018 से लेकर 2023 तक पदस्थ रहे तीन बीईओ व लेखापाल सहित 6 लोगों पर केस दर्ज किया है. इस मामले की जांच कोष को दी गई थी. अब मामला आगे बढ़ा है.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment