Follow Us

लक्ष्मण’ ने की थीं दो शादियां, बतौर हीरो फिल्मी करियर फेल हुआ पर रामायण ने दिलाई लोकप्रियता

लक्ष्मण’ ने की थीं दो शादियां, बतौर हीरो फिल्मी करियर फेल हुआ पर रामायण ने दिलाई लोकप्रियता

ठीक समझा. यही से सुनील लहरी को नया फेम मिला, जिसमे 1988 में रामानंद सागर के रामायण सीरियल में ‘लक्ष्मण’ का किरदार सबसे ज्यादा मशहूर हुआ.

कई टीवी सीरियल में किया काम
रामायण से पहले इन्होंने कई टीवी सीरियल में काम किया, जैसे दूरदर्शन पर दादा-दादी की कहानियां, प्रेमसागर के टीवी सीरियल “विक्रम और बेताल” में कई अलग-अलग भूमिकाएँ निभाई.
ऐसा कहते है सुनील लहरी रामायण में लक्ष्मण के किरदार के लिए रामानंद सागर की पहली पसंद नहीं थे, पहले संजय जोग को लक्ष्मण का किरदार दिया गया था, पर संजय जी इस रोल के लिए तैयार नही थे. फिर संजय जोग ने रामायण में भरत का किरदार निभाया. 90 के दशक के बाद सुनील को फिल्मो में काम मिलना लगभग बंद हो गया था, इसलिए फिर इन्होने अरुण गोविल जी के साथ अपना एक प्रोडक्शन हाउस खोल लिया.

शादी को लेकर चर्चाएं
सुनील लहरी की शादी को लेकर भी आमतौर पर काफी चर्चाएं होती रहती है. टेलीविजन धारावाहिक रामयण में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुलीन लहरी ने दो शादियां की थी. इनकी पहली पत्नी का नाम राधा सेन और दूसरी पत्नी का नाम भारती पाठक है.

इंटरव्यू बताया सच..
सुनील लहरी जी ने एक इंटरव्यू बताया ” मैं रामायण करने के बाद कुछ ज्यादा खुश नहीं था, क्योंकि रामायण करने से मैने बॉलीवुड में काफी नुकसान झेला था. मुझे फिल्में मिलना बंद हो गई थी, पर आज में इस महाकाव्य को करके बहुत गर्व महसूस करता हूँ. यह एक इकलोता प्रोग्राम था जो पुरे विश्व में सबसे ज्यादा देखा गया था, इसलिए हमने एक वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ-साथ बड़ा इतिहास भी बनाया. जब भी भारतीय सिनेमा के इतिहास में रामायण का इतिहास लिखा जाएगा तब उसे सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा. रामायण में लक्ष्मण के किरदार ने मेरी जिंदगी को भी बहुत प्रेरित किया है, उसने मुझे सिखाया किस तरह में अपनी जिंदगी बना सकता हूँ और इस दुनिया से कैसे रिश्ते निभा सकता हूँ. में भगवान का शुक्रियादा करता हूँ की उन्होंने मुझे ये किरदार मिलने और निभाने में मदद की और में उन दर्शको का भी शुक्रियादा करता हूँ, जिन्होंने मुझे कभी न भूलने वाला सेलेब्रिटी बनाया और इतना पसंद किया. रामायण की सबसे अच्छी बात यह थी कि वह लोगो को मानवता सिखाती थी, इसलिए यह प्रोग्राम जाति, धर्म से ऊपर था और सभी द्वारा इतना प्यार मिलता था

pnews
Author: pnews

Leave a Comment