Follow Us

10 लाख खुफिया चेहरे बनेंगे यूपी पुलिस का हथियार

10 लाख खुफिया चेहरे बनेंगे यूपी पुलिस का हथियार

उत्तर प्रदेश के कार्यवाहक पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने यूपी पुलिस की कमान संभालने के बाद गुरुवार को पहली बार प्रेस कान्फ्रेंस की. 25 करोड़ की आबादी वाले राज्य की कानून-व्यवस्था के समक्ष नई चुनौतियों का जिक्र करते हुए डीजीपी ने संकेत दिया कि सरकार बड़े पैमाने पर तकनीक खासकर आर्टीफीशियल इंटेलीजेंस का सहारा लेगी. 10 लाख 50 हजार से ज्यादा खुफिया कैमरे और हर जिले में साइबर क्राइम के लिए थाना इस दिशा में बड़ा कदम है.

 

‘मजबूत कानून व्यवस्था से बढ़ा निवेश’
उन्होंने कहा, मज़बूत कानून व्यवस्था और सरकार की नीतियों के कारण बाहर से निवेश बढ़ा है. इससे करीब एक करोड़ लोगों को रोज़गार मिलेगा. यूपी ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में लगातार ऊपर के पायदान पर जा रहा है. इसके अलावा एनसीआरबी के 2023 के डेटा के मुताबिक यूपी 19 राज्यों में अपराध दर यूपी से ज्यादा है. महिला संबंधी अपराधों में सज़ा दिलाने की यूपी की दर राष्ट्रीय दर से 180 फीसदी अधिक है. साथ ही पुलिस में विभिन्न पदों पर पारदर्शी और निष्पक्ष भर्तियां चल रही हैं. पिछले कई वर्षों में पहली बार किसी भर्ती प्रक्रिया पर कोई प्रश्नचिन्ह नहीं लगा है.

‘साइबर क्राइम से निपटना प्राथमिकता’
डीजीपी ने बताया कि साइबर क्राइम से निपटना हमारी प्राथमिकता है. अब हर जिले में एक साइबर थाना है, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को अपनी दैनिक पुलिसिंग में शामिल कर रहे हैं. दस लाख पचास हजार कैमरे ऑपरेशन त्रिनेत्र के तहत लगाए गए हैं. राम मंदिर उद्घाटन समारोह में पुलिस ने अन्य विभागों के साथ समन्वय में बेहतरीन काम किया है. 2025 महाकुंभ की तैयारी ज़ोर शोर से पुलिस कर रही है.

‘लोकसभा चुनाव को लेकर शुरुआती तैयारी पूरी’
उन्होंने कहा, जनता के साथ मिलकर पुलिस बेहतर से बेहतर सुरक्षा का माहौल देगी. राम मंदिर उद्घाटन समारोह में पुलिस ने अन्य विभागों के साथ समन्वय में बेहतरीन काम किया है. लोकसभा चुनाव की शुरुआती तैयारी पुलिस ने कर ली है. साथ ही यूपी पुलिस सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए धर्म गुरुओं के संपर्क में रहती है. जनता के साथ मिलकर पुलिस बेहतर से बेहतर सुरक्षा का माहौल देगी. पुलिस जनता से फीडबैक लेती रहेगी. किसी भी धार्मिक स्थल को लेकर जो भी कोर्ट का आदेश होगा उसका अनुपालन कराया जाएगा. व्यास जी मंदिर में पूजा समेत अन्य मुद्दों पर हमारी नज़र बनी है. ऐसे इलाकों में सीनियर अफसरों की ड्यूटी लगाई गई है.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment