Follow Us

नफे सिंह हत्याकांड में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, गोवा से 2 आरोपी किए गिरफ्तार

नफे सिंह हत्याकांड में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, गोवा से 2 आरोपी किए गिरफ्तार

इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) के नेता नफेसिंह राठी की हत्या के मामले में गोवा से दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी. इनेलो की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष राठी और पार्टी कार्यकर्ता जयकिशन की 25 फरवरी को झज्जर के बहादुरगढ़ में अज्ञात हमलावरों ने उनके वाहन पर गोलीबारी कर हत्या कर दी थी.

अधिकारियों ने बताया कि आशीष और सौरभ को हरियाणा पुलिस के विशेष कार्य बल, जिला पुलिस और दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ के संयुक्त अभियान में गोवा से गिरफ्तार किया गया. राष्ट्रीय राजधानी के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों को गोवा से दिल्ली लाया गया और फिर दोपहर में झज्जर ले जाया गया. उन्होंने बताया कि उन्हें उत्तरी गोवा से गिरफ्तार किया गया था, जहां वे एक होटल में ठहरे हुए थे. दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आशीष, सौरभ, नकुल और अतुल वे चार आरोपी हैं, जिन्होंने 25 फरवरी को राठी और किशन के वाहन पर गोलीबारी की थी.

अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ (दक्षिण-पश्चिम रेंज) की एक टीम गोवा में चलाए गए अभियान में शामिल थी. दिल्ली के नांगलोई में रहने वाले आशीष और सौरभ ब्रिटेन में रह रहे गैंगस्टर कपिल सांगवान के साथी हैं. सांगवान ने एक कथित सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से राठी की हत्या की जिम्मेदारी ली है. पोस्ट में यह भी दावा किया गया कि राठी की सांगवान के दुश्मन मंजीत महल से गहरी दोस्ती हो गई थी.

सूत्रों ने बताया कि सांगवान ने चारों हमलावरों को हथियार और कारतूस मुहैया कराए थे. उन्होंने बताया कि नकुल और अतुल शनिवार को गोवा स्थित होटल से चले गए थे. दिल्ली पुलिस के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि सांगवान का बड़ा भाई ज्योति प्रकाश उर्फ बाबा हत्या के एक मामले में तिहाड़ जेल में बंद हैं और आगामी दिनों में हरियाणा पुलिस उससे पूछताछ कर सकती है.

लोकसभा चुनाव से पहले इनेलो नेता पर हुए हमले को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित हरियाणा में विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. झज्जर में पुलिस ने इस घटना के बाद दर्ज की गई प्राथमिकी में पूर्व भाजपा विधायक नरेश कौशिक और अन्य को नामजद किया था. यह मामला धारा 302 (हत्या) समेत भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं और शस्त्र अधिनियम के तहत दर्ज किया गया था. पुलिस से की गई शिकायत में नफे सिंह राठी के भतीजे राकेश ने कहा कि पांच अज्ञात हत्यारे उनकी कार का पीछा कर रहे थे. इस दौरान बाराही रेलवे क्रॉसिंग के पास वे कार से बाहर निकले और उन्होंने राठी पर अंधाधुंध गोलीबारी कर दी.

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने हाल में विधानसभा में कहा था कि इनेलो की प्रदेश इकाई के प्रमुख की हत्या की जांच केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपी जाएगी. वरिष्ठ इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने राज्य की भाजपा-जजपा (जननायक जनता पार्टी) सरकार पर आरोप लगाया कि राठी की जान को खतरा होने के बावजूद उन्हें सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई.

 

pnews
Author: pnews

Leave a Comment