Follow Us

डीएलएड परीक्षा में नेल पॉलिश मेंहदी लगाकर जाना वर्जित है

डीएलएड परीक्षा में नेल पॉलिश मेंहदी लगाकर जाना वर्जित है

बिहार में डीएलएड के लिए एंट्रेंस एग्जाम के बारे में बहुत सारी चर्चाएं हैं. इस बार प्राइमरी शिक्षक भर्ती में बीएड डिग्री धारकों को बाहर रखा गया है. इसलिए डीएलएड आवेदन के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं. बिहार डीएलएड प्रवेश परीक्षा के लिए 681,982 छात्रों ने आवेदन किया है. परीक्षा 9 जिलों में 53 परीक्षा केंद्रों में आयोजित की जाएगी, जिसमें पटना में 36 केंद्र हैं. परीक्षा 30 मार्च से 28 अप्रैल तक होगी, लेकिन कुछ तारीखों पर परीक्षा नहीं होगी क्योंकि इन दिनों लोकसभा चुनाव भी होने वाला है. छात्र अपना एडमिट कार्ड biharboardonline.bihar.gov.in से डाउनलोड कर सकते हैं.

प्रथम पाली की परीक्षा 10 बजे और द्वितीय पाली 3 बजे से 
जानकारी के लिए बता दें कि बिहार में लोकसभा चुनाव की तिथि 19 अप्रैल 2024 तय होने के कारण कुछ जिलों में परीक्षा नहीं होगी. गया, भागलपुर और पूर्णिया में परीक्षा केंद्रों पर 30 मार्च से 23 अप्रैल तक परीक्षा नहीं होगी. परीक्षा के दौरान 5 महत्वपूर्ण नियम हैं. प्रथम पाली की परीक्षा 10 बजे से 12:30 बजे तक होगी और द्वितीय पाली 3 बजे से 5:30 बजे तक.

कंप्यूटर आधारित होगी परीक्षा
परीक्षा कक्ष में जूता-मोजा पहन कर प्रवेश वर्जित है. परीक्षा के दौरान अभ्यर्थियों का बायोमेट्रिक उपस्थिति दर्ज कराया जाएगा. परीक्षार्थियों को अपने एडमिट कार्ड के साथ वैध और मूल फोटो पहचान पत्र लेकर जाना होगा. परीक्षा कंप्यूटर आधारित होगी और उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड 10 मिनट पहले दिए जाएंगे.

परीक्षा कक्ष में बनाए गए है ये नियम
परीक्षा के दिन साथ में पेंसिल और बॉल पेन लेकर जाना होगा. पुस्तक, नोटबुक, कैलकुलेटर और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट लेकर परीक्षा कक्ष में नहीं जाना है. परीक्षा के समय प्रवेश पत्र के सामने साइन करना अनिवार्य है. अंगुलियों पर मेहंदी, स्याही, रंग, नेल पॉलिश नहीं लगाना चाहिए. परीक्षा समाप्त न होने तक कक्षा छोड़ना मना है.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment