Follow Us

होली के दिन आरा में ताबड़तोड़ फायरिंग

होली के दिन आरा में ताबड़तोड़ फायरिंग

बिहार के भोजपुर जिले के उदवंतनगर थाना क्षेत्र के बेलाउर गांव में हथियारबंद अपराधियों ने पूर्व के विवाद को लेकर पूर्व पंचायत समिति सदस्य के पुत्र समेत दो को गोली मार दी. जिसमें पूर्व पंचायत समिति सदस्य के पुत्र को एक गोली सिर और एक गोली गले में लगी है. जबकि उसके दोस्त को एक गोली बाएं साइड पेट में लगी है.

जख्मियों में उदवंतनगर थाना क्षेत्र के बेलाउर गांव वार्ड नंबर 13 निवासी सह पंचायत समिति सदस्य स्व. दीपक कुमार गुप्ता का 18 वर्षीय पुत्र आयुष कुमार गुप्ता और उसी गांव के निवासी रंजन पासवान का 17 वर्षीय पुत्र व उसका दोस्त दीपू कुमार शामिल हैं. दोनों का इलाज आरा शहर के बाबू बाजार स्थित निजी अस्पताल में कराया जा रहा है.

घायल आयुष कुमार गुप्ता ने बताया कि सोमवार को देर रात वह घर के बाहर निकल कर चापाकल पर पानी पी रहा था और उसका दोस्त दीपक कुमार चापाकल चला रहा था. जहां पहले से घात लगाकर झाड़ी में बैठे गांव के कुख्यात अपराधी के भतीजों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की. जिससे दोनों गंभीर रूप से जख्मी हो गए. उसने बताया कि एक वर्ष पूर्व चुनावी रंजिश को लेकर उसके पिता सह पूर्व पंचायत समिति सदस्य दीपक कुमार गुप्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. वह अपने पिता की हत्या में मुख्य गवाह भी है.

वहीं दूसरी ओर उसने बताया कि गांव के ही कुख्यात अपराधी बुटन चौधरी के भाई उपेंद्र चौधरी का बेल रिजेक्ट हो गया था. जिससे बौखला कर बुटन चौधरी का भतीजा करीमन चौधरी, सुमित चौधरी और राज यादव पर अपने और दोस्त को गोली मारने का आरोप लगाया है. हालांकि, पुलिस अपने स्तर से मामले की छानबीन कर रही है.

एसपी प्रमोद कुमार ने पुष्टि की कि बेलाउर पंचायत में पुरानी दो पक्षों में चल रही दुश्मनी के तहत आज पूर्व में हत्या की गई. दीपक शाह के लड़के बिट्टू और उसके साथ बाइक से जा रहे एक लड़के दीपू को गांव से कुछ दूरी पर दूसरे पक्ष के सुमित चौधरी, बिट्टू राय और एक अन्य अपराधी ने विवाद के उपरांत एक-एक गोली मार दी है. हालांकि दीपक शाह की हत्या के उपरांत उनके घर पर एक सेक्शन बल और पदाधिकारी सुरक्षा के लिए दिए गए थे. लेकिन, मृतक दीपक शाह के लड़के ने पुलिस वालों की मना करने के बावजूद बिना सुरक्षा के अकेले किसी कारणवश निकल गया था. इसके बाद यह घटना घटी है. गोली मारने वाले और इसमें संलिप्त अन्य अभियुक्तों का नाम पता चल गया है.

वरिष्ठ पदाधिकारी के नेतृत्व में टीम का गठन कर दिया गया है और अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी आरंभ कर दी गई है. दोनों घायल को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है और दोनों का इलाज आरंभ हो गया है. पुलिस विधिक कार्रवाई के साथ-साथ गिरफ्तारी हेतु छापेमारी कर रही है. फिलहाल इस पूरे मामले पर पुलिस ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है.

 

pnews
Author: pnews

Leave a Comment