Follow Us

सऊदी में नौकरी के झांसे में आए बेरोजगार, हजारों किलोमीटर दूर पकड़ा गया जालसाज

सऊदी में नौकरी के झांसे में आए बेरोजगार, हजारों किलोमीटर दूर पकड़ा गया जालसाज

 

प्रदेश के हापुड़ जिले में एक सनसनीखेज साइबर अपराध का मामला सामने आया है. हापुड़ में पुलिस ने एक ऐसे ही शातिर अभियुक्त को गिरफ्तार किया है, जो बेरोजगार युवकों को विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करता था. ठगी करने का तरीका भी ऐसा था, जिसे सुनकर पुलिस भी हैरान है. फिलहाल, आरोपी ठग पुलिस हिरासत में है.

पुलिस द्वारा बरामद किया गया सामान
पुलिस ने शातिर अभियुक्त के पास से 58 पासपोर्ट, 122 वीजा, 30 रबर मौहरें, एक लैपटॉप, बारकोड स्कैनर, 3 मोबाइल और एक महिन्द्रा एक्सयूवी कार के अलावा 1 हजार रूपये की नकदी बरामद की है.
युवक की शिकायत के बाद हुई कारवाई
एसपी हापुड़ अभिषेक वर्मा ने बताया कि साईबर थाने में एक बेरोजगार युवक द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई थी कि उससे विदेश में नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी की गई है. शिकायत के बाद साईबर क्राइम पुलिस अभियुक्त की तलाश में जुट गई. अभियुक्त की तलाश में जुटी पुलिस ने आरोपी को छिजारसी टोल प्लाजा के पास से गिरफ्तार किया. पूछताछ के दौरान अभियुक्त ने अपना नाम राशिद पुत्र बाबू शेख निवासी ग्राम हकीमगंज, थाना अजीमनगर, रामपुर बताया.

पूछताछ में सामने आए राज़
पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बहुत राज बताए. एसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान शातिर ठग ने कहा कि उसने अपने मोबाइल में सऊदी अरब के नंबर से व्हाट्सअप इंस्टॉल कर रखा है. वह व्हाट्सअप कॉल के माध्यम से बेरोजगार युवकों को अपने शिकंजे में फंसाता था और उन्हें विदेश में नौकरी करने का झांसा देकर उनके पासपोर्ट मंगा लेता था.इतना ही नहीं, शातिर ठग फर्जी वीजा, टिकट, फर्जी मेडिकल फिटनेस प्रमाण पत्र और बेरोजगार युवकों के पासपोर्ट पर एम्बैसी की फर्जी मौहर लगाकर उन्हें भेजकर नौकरी दिये जाने का विश्वास दिलाता था. इसके बाद शातिर ठग अपने अकाउंट में रूपये ट्रांसफर कराता था. पुलिस अभियुक्त के नेटवर्क को खंगाल रही है.

 

pnews
Author: pnews

Leave a Comment