Follow Us

साइबर ठगी को लेकर पुलिस का बड़ा एक्शन,12 ठगों को किया गिरफ्तार

साइबर ठगी को लेकर पुलिस का बड़ा एक्शन,12 ठगों को किया गिरफ्तार

राजस्थान के धौलपुर जिला पुलिस ने साइबर ठगों की बड़ी गैंग को पकड़ा है.मनिया कस्बे में ईमित्र संचालक की दुकान से साइबर ठगी करते हुए 12 आरोपी साइवर ठगों को गिरफ्तार किया है.आरोपियों के कब्जे से मोबाइल, आधार कार्ड, सिम कार्ड एवं अन्य सामग्री को बरामद किया है.

सीओ सिटी तपेंद्र मीणा ने बताया आईजी भरतपुर रेंज राहुल प्रकाश एवं पुलिस अधीक्षक धौलपुर सुमित मेहरडा के निर्देश में साइबर ठगी पर रोकथाम के लिए ऑपरेशन एंटी वायरस चलाया जा रहा है. उन्होंने बताया कि मनिया थाना प्रभारी देवेश कुमार को जरिए मुखबिर गुप्त सूचना प्राप्त हुई कि मनिया कस्बे में एक ईमित्र संचालक की दुकान पर कुछ लोग साइबर ठगी को अंजाम देने की फिराक में है
मुखबिर की सूचना पर स्पेशल पुलिस एवं साइबर टीम का गठन कर मौके पर कार्रवाई करने के लिए भेजा गया. पुलिस टीम ने ईमित्र संचालक की दुकान पर छापा मारकर भारी तादाद में ठगी की सामग्री को बरामद किया है.मौके से पुलिस ने 18 मोबाइल, लैपटॉप, आधार कार्ड 42, सिम कार्ड,चेकबुक 12, पासपोर्ट समेत अन्य सामग्री को बरामद किया है.
12 साइबर ठग गिरफ्तार
ई-मित्र की दुकान से पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया था. सीओ तपेंद्र मीणा ने बताया हिरासत में लिए गए आरोपियों के निशानदेई पर पुलिस ने 6 आरोपी धौलपुर,दो आरोपी आगरा, दो आरोपी ग्वालियर एवं एक आरोपी को कानपुर व मुरैना से गिरफ्तार किया है

इनको किया गिरफ्तार

कल्याण सिंह पुत्र छीतरिया निवासी मनिया, भूपेंद्र सिंह पुत्र भंवर सिंह निवासी पिपरिपुरा, राहुल मिश्रा पुत्र सुभाष चंद्र मिश्रा निवासी फिरोजाबाद, चंद्रपाल पुत्र नेमीचंद निवासी मनिया, रविकांत पुत्र ईशान निवासी इटावा, सौरभ वर्मा पुत्र रमाकांत वर्मा निवासी आगरा, शिव प्रताप पुत्र महावीर सिंह निवासी मुरैना, धर्मेंद्र सिंह पुत्र गंगा सिंह निवासी ग्वालियर, गगन कुमार पुत्र विनोद कुमार निवासी आगरा, नितिन कुमार पुत्र राम किशोर निवासी फिरोजाबाद, चैतन्य कुमार पुत्र नेमीचंद निवासी मनिया एवं लोकेंद्र कुमार पुत्र मुकेश कुमार निवासी मनिया को गिरफ्तार किया है.

धन दोगुना एवं हनी ट्रेप के माध्यम से भी करते है शिकार सीओ तपेंद्र मीणा ने बताया साइबर ठगी की बड़ी गैंग का पुलिस ने पर्दाफाश किया है. 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस द्वारा अलग-अलग एंगल से पूछताछ की जा रही है.

प्रारंभिक जांच में ज्ञात हुआ है कि आरोपी धन दोगुना करने का लालच देकर लोगों को ठगी का शिकार करते थे. इसके अलावा अपहरण की धमकी देकर डरा धमका कर भी लोगों से धन हड़पते थे.
जांच में एक तरीका और भी सामने आया है.आरोपी फेसबुक, इंस्टाग्राम ट्विटर आदि शोशल मीडिया के बैनरों पर लड़कियों की फेक आईडी बनाकर युवकों को फंसाते है.वीडियो कॉलिंग के माध्यम से अश्लील फिल्म एडिट कर स्क्रीनशॉट एवं वीडियो

रिकॉर्डिंग कर ब्लैकमेलिंग कर ठगी का धंधा किया जा रहा था.उन्होंने बताया गैंग में अभी और सदस्य शामिल हो सकते हैं. आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस बारीकी से जांच पड़ताल कर रही है.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment