Follow Us

झिका वायरस के लक्षणों के लिए जेनेरिक आधार से किफायती दवाएं

*झिका वायरस के लक्षणों के लिए जेनेरिक आधार से किफायती दवाएं!*

*मुख्यमंत्री के ओएसडी मंगेश चिवटे ने जेनेरिक आधार की इस पहल को दिया प्रोत्साहन*

 

*झिका वायरस के बढ़ते मामलों के बीच अर्जुन देशपांडे का प्रभावी अभियान*

झिका वायरस इस समय पूरे देश में फैल रहा है। यह वायरस एडिस मच्छर के काटने से फैलता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी इस गंभीर बीमारी को मान्यता दी है और आवश्यक उपाय करना शुरू कर दिया है। इस वायरस को कोरोना वायरस जितना गंभीर न होने देने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने इस पर विशेष ध्यान देना शुरू कर दिया है। इसलिए, जेनेरिक आधार ने एक विशेष अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है जहाँ झिका वायरस के लक्षणों के लिए प्रभावी दवाएं बहुत ही किफायती कीमतों पर उपलब्ध होंगी। इन दवाओं पर आपको 80% की छूट मिलेगी। आप ये दवाएं अपने नजदीकी जेनेरिक आधार मेडिकल स्टोर से प्राप्त कर सकते हैं। जेनेरिक आधार के संस्थापक श्री अर्जुन देशपांडे ने COVID-19 महामारी के दौरान रेमडेसिविर जैसी दवाएं मुफ्त में उपलब्ध कराई थीं। झिका वायरस के प्रसार को देखते हुए, इस अभियान का उद्देश्य जरूरतमंदों को किफायती दरों पर दवाएं उपलब्ध कराना है। सामाजिक कार्यों में अग्रणी जेनेरिक आधार के संस्थापक श्री अर्जुन देशपांडे ने झिका वायरस के लक्षणों के लिए महत्वपूर्ण छूट की घोषणा की है।

मानसून के दौरान, कई संक्रामक बीमारियाँ तेजी से फैलने लगती हैं। रुके हुए पानी में मच्छरों की पैदावार होती है। इसलिए नगर पालिका द्वारा विशेष सावधानियाँ बरती जाती हैं। मच्छरों की पैदावार से डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारियाँ फैलने लगती हैं। जब झिका वायरस से संक्रमित मच्छर स्वस्थ व्यक्ति को काटता है, तो उस व्यक्ति को झिका वायरस हो जाता है। बुखार, सर्दी, जोड़ों का दर्द, आँखों की दवा, भूख न लगना, उल्टी जैसी बीमारियों के लिए किफायती दवाएं आपके नजदीकी जेनेरिक आधार मेडिकल स्टोर में उपलब्ध होंगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। राज्य सरकारें इस बीमारी को नियंत्रित करने के लिए आवश्यक कदम उठा रही हैं। सरकार ने भी जेनेरिक आधार की इस पहल का समर्थन और प्रोत्साहन दिया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के विशेष अधिकारी और चिकित्सा कक्ष प्रमुख मंगेश चिवटे ने सभी वर्गों से इस बीमारी के खिलाफ जागरूकता फैलाने और समय पर सावधानी बरतने और उपचार करने का आह्वान किया है। चिवटे ने कहा कि जेनेरिक आधार की यह पहल वास्तव में कई जरूरतमंदों का समर्थन करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि झिका वायरस, डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियों की दवाएं बहुत महंगी होती हैं और लोगों को जेनेरिक आधार की इस पहल का लाभ उठाना चाहिए। सरकार भी ऐसी पहलों का संज्ञान लेगी और सभी आवश्यक सहायता प्रदान करेगी, उन्होंने आश्वासन दिया।

जेनेरिक आधार के संस्थापक श्री अर्जुन देशपांडे ने कहा कि सामूहिक प्रयासों से झिका वायरस बीमारी को निश्चित रूप से हराया जा सकता है। बढ़ती बीमारियों के कारण इस समय हर जगह अत्यधिक सतर्कता बरती जा रही है। हम झिका जैसी बीमारियों के प्रसार को रोकने के लिए विशेष ध्यान दे रहे हैं। हम सभी से इस विशेष अभियान के बारे में अपील करते हैं कि वे सावधानी बरतें और यदि कोई लक्षण दिखाई दें तो यहाँ से दवाएं प्राप्त करें। झिका वायरस के लक्षणों के लिए दवाओं पर 80% की छूट उपलब्ध होगी। इसके अलावा, अधिक लोगों में जागरूकता फैलाने से कई रोगियों को लाभ होगा, देशपांडे ने व्यक्त किया।

 

pnews
Author: pnews

Leave a Comment