Follow Us

बिहार में वज्रपात से खतरा बढ़ा, एक दिन में 18 की मौत

बिहार में वज्रपात से खतरा बढ़ा, एक दिन में 18 की मौत

पूरे देश में मानसून सक्रिय हो चुका है और बिहार में भी बारिश शुरू हो चुकी है. बारिश की वजह से मौसम सुहाना हो गया है, लेकिन वज्रपात के चलते बिहार के कई जिलों में लोगों की मौत हो गई है. ठनका गिरने से लोगों की मौत का सिलसिला जारी है. शुक्रवार (5 जुलाई) को अलग-अलग जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने से 18 लोगों की मौत हो गई. वज्रपात से सबसे ज्यादा मौतें भागलपुर में हुई हैं. भागलपपुर में वज्रपात से 4 लोगों की जान चली गई. इसके अलावा जहानाबाद और बेगूसराय में 3-3, मधेपुरा और सहरसा में 2-2, काराकाट, वैशाली, मोतिहारी और छपरा में एक-एक व्यक्ति की आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मौत हुई है.

 

नालंदा के इस्लामपुर थाना क्षेत्र के सकरी गांव में शुक्रवार (5 जुलाई) को ठनका गिरने से दो भाइयों की मौत हो गई. दोनों खेत में काम कर रहे थे, उसी समय वज्रपात की चपेट में आ गए. मृतक की पहचान राजेन्द्र महतो के 46 वर्षीय पुत्र बिरजू प्रसाद व 42 वर्षीय विनोद प्रसाद के रूप में की गई है. ग्रामीण रंजीत पासवान ने बताया कि दोनों भाई गांव के उत्तर खुटियारी खंधा में ट्रैक्टर से खेत जुताई करने के लिए निकले थे. इसी दौरान दोनों भाई करंट के चपेट में आ गए. इसके बाद घर में चीख-पुकार मच गई. परिवार में कोहराम मचा हुआ है. उधर वैशाली जिले के पातेपुर में खेत में काम कर रहे महिला के ऊपर ठनका गिरने से उसकी मौत हो गई. घटना पातेपुर थाना क्षेत्र के नीरपुर पंचायत के कुसाही गांव की है. मृतका की पहचान कमलेश राय की 40 वर्षीय पत्नी रीता देवी के रूप में हुई है.

वहीं बेगूसराय में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक महिला की दर्दनाक मौत हो गई. इस मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया. घटना बछवारा थाना क्षेत्र के रानी 2 पंचायत की है. मृतक महिला की पहचान रानी 2 पंचायत शिबू टोल निवासी सोमा देवी के रूप में की गई है. परिजनों ने बताया कि लगातार हो रही बारिश के बीच आज सोमा देवी खाना बनाने के लिए जलावन लाने गई थी और जैसे ही वह जलावन ले रही थी उसी क्रम में जोर से बिजली चमकी और वज्रपात हो गया. जिसकी चपेट में सोमा देवी आ गई. घटनास्थल पर ही सीमा देवी की मौत हो गई.

 

pnews
Author: pnews

Leave a Comment