Follow Us

राजद भ्रष्टाचार आचरण में लिप्त रही, कराऊंगा जांच: नीतीश कुमार

राजद भ्रष्टाचार आचरण में लिप्त रही, कराऊंगा जांच: नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछली सरकार में राष्ट्रीय जनता दल भ्रष्ट आचरण में लिप्त थी. उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार इसकी जांच कराएगी. बिहार विधानसभा में नीतीश कुमार ने कहा कि शिक्षकों की नियुक्ति का फैसला तो तब हो चुका था, जब भाजपा और जदयू की सरकार थी.

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि जब राजद के साथ सरकार बनी तब राजद ने जबरदस्ती शिक्षा विभाग लिया था, लेकिन वे लोग शिक्षा विभाग में काम करने के बजाय सारे काम को रोक रहे थे. इससे पहले भी जब महागठबंधन की सरकार बनी थी तब उस समय कांग्रेस के पास शिक्षा विभाग हुआ करता था, लेकिन कांग्रेस ने गड़बड़ी नहीं की थी। राजद ने गड़बड़ किया.

नीतीश कुमार ने विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि राजद के शासनकाल को भी याद करना चाहिए. कोई कानून-व्यवस्था नहीं थी. 2005 से पहले राजद अपने शासनकाल के दौरान भ्रष्ट आचरण में लिप्त था, मैं इसकी जांच कराऊंगा.

उन्होंने कहा कि 2005 में मेरे सत्ता में आने से पहले तेजस्वी के पिता और मां को 15 साल तक काम करने का मौका मिला तो क्या होता था बिहार में. शाम में कोई भी आदमी घर से बाहर नहीं निकलता था, अब 11-12 बजे रात तक महिलाएं घूमती हैं.

बता दें कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने सोमवार को विधानसभा में विश्वास मत जीत लिया. विपक्षी सदस्यों के वॉकआउट के बीच नई सरकार को 129 वोट मिले. वहीं, विधानसभा के डिप्टी स्पीकर ने अपना समर्थन सरकार को दिया. बिहार विधानसभा में विधायकों की संख्या 243 है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज अपनी सरकार के शक्ति परीक्षण से पहले राज्य विधानसभा को संबोधित किया. सदन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आप लोगों को याद है जब हमने काम करना शुरू किया था. 2005 से हमें काम करने का मौका मिला। हम लगातार काम कर रहे हैं.

pnews
Author: pnews

Leave a Comment